बीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कालेज गोरखपुर, प्रवेश प्रक्रिया

गोरखपुर में कक्षा- 6 से 12 तक केवल हिंदी माध्यम से शिक्षण व्यवस्था है| कक्षा -6 से 8 तक शिक्षा विभाग में उoप्रo द्वारा निर्धारित विषयों एवं पाठ्यक्रम में तथा 9 एवं 12 बोर्ड ऑफ़ हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट एजूo उo प्रo द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम में केवल मानविकी वर्ग में निम्नलिखित विषयों में शिक्षा प्रदान करने की व्यवस्था है:-

कक्षा-9

निर्धारित विषय

1- हिंदी

2- अंग्रेजी

3- संस्कृत

4- गणित (प्रारम्भिक)/ गृहविज्ञान

5- विज्ञान

6- सामाजिक विज्ञान

7- नैतिक एवं शारीरिक शिक्षा

कक्षा-11

अनिवार्य विषय

1- हिंदी

वैकल्पिक विषय

2- अंग्रेजी

3- अर्थशास्त्र

4- नागरिकशास्त्र

5- समाजशास्त्र

7- भूगोल





खेलकूद में प्रशिक्षण:

कुश्ती (बालक), जिम्नास्टिक, वालीबॉल (बालक/बालिका) एवं हॉकी(बालिका)|



प्रवेश अर्हतायें:-

    1- बीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कालेज, गोरखपुर में कक्षा -6 में प्रवेश प्रदान किया जाता है|

    2- प्रवेशार्थी उत्तर प्रदेश का अधिवासी हो|

    3- कक्षा 6 में प्रवेश हेतु प्रवेशार्थी /प्रवेशार्थिनी की आयु 01 अप्रैल 2015 में 12 वर्ष से अधिक और 9 वर्ष से कम नहीं हो|

    4- प्रवेशार्थी/प्रवेशार्थिनी कक्षा-5 में उत्तीर्ण हो| कक्षा-5 अध्ययनरत छात्र/छात्रा भी प्रवेश परीक्षा में भाग ले सकते है, किन्तु प्रवेश के समय कक्षा-5 का उत्तीर्ण प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य है|

    5- स्वस्थ शरीर एवं खेल के प्रति अभिरुचि|

    6- प्रवेशार्थी /प्रवेशार्थिनी के प्रवेश से पूर्व कालेज में मेडिकल बोर्ड द्वारा चिकित्सा परीक्षण/आयु परीक्षण में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है| मुख्य चयन के पूर्व प्रवेशार्थी/प्रवेशार्थिनी का कालेज में मेडिकल बोर्ड द्वारा आयु परीक्षण होगा| जिसमे सफल होने पर अभ्यर्थी /अभ्यर्थिनी आगे चयन परीक्षा में भाग ले सकेंगे| इस सम्बन्ध में मेडिकल बोर्ड का निर्णय अंतिम होगा | इच्छुक प्रवेशार्थी/प्रवेशार्थिनी प्रॉस्पेक्टस(विवरण पत्रिका) को रूपये 200/- भुगतान कर प्राप्त कर सकते है| विवरण पत्रिका के अंतिम पृष्ठ पर संलग्न प्रवेश आवेदन पत्र को पूर्ण कर प्रारम्भिक प्रवेश परीक्षा में भाग ले सकते है| आवेदन पत्र में अंकित किसी भी सूचना के असत्य पाये जाने पर चयन रद्द कर दिया जायेगा|

    नोट: प्रवेश ट्रायल(प्रारम्भिक एवं फाइनल) में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थियों/अभ्यर्थिनियो को सम्बन्धित खेलों की किट में आना अनिवार्य है| अन्यथा उन्हें ट्रायल में सम्मिलित नहीं किया जायेगा| अभ्यार्थी/अभ्यर्थिनियो केवल एक ही खेल में ट्रायल दे सकता है|






प्रवेश प्रक्रिया :

बीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कालेज, गोरखपुर में कक्षा- 6 में प्रवेश हेतु निम्नलिखित खेलो में परीक्षाये ली जाएंगी:-

प्रारम्भिक चयन परीक्षा

कक्षा-6

1-फिजिकल टेस्ट:-              पूर्णांक-15 अंक

(A)-60 मीo की दौड़                  05 अंक

(B)-800 मीo की दौड़                05 अंक

(C)- स्टैंडिंग ब्रॉड जम्प              05 अंक

2- खेल परीक्षा:-                  पूर्णांक-35 अंक

(A)-स्किल टेस्ट                         20 अंक

(B)-खेल टेस्ट                            15 अंक

प्रारम्भिक प्रवेश परीक्षा केंद्र

1- फैज़ाबाद

2- देवीपाटन

3- बस्ती

4- गोरखपुर

5- आजमगढ़

6- वाराणसी

7- इलाहाबाद

8- बाँदा

9- कानपुर

10- झाँसी

11- आगरा

12- सैफई

13- बरेली

14- मुरादाबाद

15- मेरठ

16- मुज0 नगर

17- सहारनपुर

18- लखनऊ


मुख्य चयन परीक्षा (फाइनल ट्रायल्स )

प्रारम्भिक चयन परीक्षा में सफल अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी को ही मुख्य चयन परीक्षा में सम्मिलित होने हेतु बुलाया जाता है। जिसकी सूचना कालेज द्वारा पृथक रूप से भेजी जाती है।

मुख्य परीक्षा निम्नलिखित चरणो में होती है –

शारीरिक परीक्षा:-          पूर्णांक 30 अंक          न्यूनतम उत्तीर्णांक          10 अंक


कक्षा -6 कक्षा -9
आईटम्स निर्धारित अंक आईटम्स निर्धारित अंक
1- 60 मीटर की दौड़ 05 अंक 1- 100 मीटर की 06 अंक
2- 800 मीटर की दौड़ 05 अंक 2- 800 मीटर की दौड़ 06 अंक
3- वर्टीकल जम्प 05 अंक 3- वर्टिकल जम्प 06 अंक
4- स्टैंडिंग ब्रॉड जम्प 05 अंक 4- स्टैंडिंग ब्रॉड जम्प 06 अंक
5- बॉल थ्रो 400 ग्राम 05 अंक 5- बॉल थ्रो 600 ग्राम 06 अंक
6- 10*6 शटल रन 05 अंक - -
योग- 30 अंक योग- 30 अंक

खेल विशेष की परीक्षा :- पूर्णांक 50 अंक न्यूनतम उत्तीर्णांक 20 अंक

1- स्किल टेस्ट

2- खेल टेस्ट

25 अंक

25 अंक

विभिन्न खेलों में अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी को खेल विशेषज्ञों की चयन समिति द्वारा मैदान में खेल खिलाकर उनके स्किल एवं गेम का परीक्षण किया जाता है और उसी के आधार पर विशेषज्ञ अंक प्रदान करते हैं। खेल विशेष की परीक्षा हेतु निर्धारित न्यूनतम उत्तीर्ण 20 अंक हैं।

अभिरूचि परीक्षा(Aptitude test ):-

पूर्णांक 20 अंक, न्यूनतम उत्तीर्णांक 07 अंक| यह 45 मिनट की लिखित परीक्षा होगी जिसमे प्रवेशार्थी/प्रवेशार्थिनी के सामान्य ज्ञान एवं बुद्धि का मूल्यांकन किया जाता है। इसमें अभिरुचि परीक्षण, खेल ज्ञान एवं शैक्षिक मूल्यांकन से सम्बन्धित प्रश्न होते हैं। यह परीक्षा मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण से अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी की खेल के प्रति अभिरुचि जानने के लिए मनोविज्ञानशाला उत्तर प्रदेश इलाहाबाद द्वारा मनोनीत विशेषज्ञों द्वारा ली जाती है। इस परीक्षा में अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी को न्यूनतम 07 अंक पाना अनिवार्य है।

आयु परीक्षण:-

मुख्य चयन परीक्षा प्रारम्भ होने के पूर्व अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी का कालेज में मेडिकल बोर्ड द्वारा आयु परीक्षण किया जायेगा। इसमें ठीक पाये जाने पर ही अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी को मुख्य चयन परीक्षा में सम्मिलित किया जायेगा। आयु परीक्षण के सम्बन्ध में मेडिकल बोर्ड का निर्णय अंतिम होगा।

साक्षात्कार:-

अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी का साक्षात्कार भी होगा जिसमे अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी के व्यक्तित्व का सही अवलोकन हो सके। निर्धारित खेलों में कालेज मे प्रवेश हेतु अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी का चयन उपर्युक्त परीक्षाओं में प्राप्त प्राप्तांकों के मेरिट के आधार पर किया जाता है। चयन समिति का निर्णय अंतिम सर्वमान्य होगा।

मुख्य चयन परीक्षा(फाइनल ट्रायल्स)

मुख्य चयन परीक्षा में उन्ही अभ्यर्थियों/अभ्यर्थिनियो को बुलाया जाता है जिनका चयन प्रारम्भिक परीक्षा में किया गया है। खेलवार व कक्षावार सम्बन्धित संस्थाओं की मुख्य चयन परीक्षा निम्न केन्द्रों पर आयोजित होती है।

स्थान:-

सैफई स्पोर्ट्स कालेज, सैफई इटावा।

बीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कालेज, गोरखपुर।

गुरु गोबिन्द सिंह स्पोर्ट्स कालेज, लखनऊ।


छात्र द्वारा कालेज छोड़ने एवं निष्कासन :

अभिभावक द्वारा छात्र/छात्रा को कालेज से हटाने हेतु आगामी सत्र प्रारम्भ होने से पूर्व एक माह का नोटिस देना अनिवार्य है। इस प्रकार का नोटिस दिये जाने की दशा में समस्त सिक्योरिटी जब्त की जा सकती है। इसके अतिरिक्त कालेज द्वारा छात्र/छात्रा के शिक्षण एवं प्रशिक्षण पर किये गए समस्त व्यय की वसूली भी की जा सकती है।

कालेज एवं छात्र/छात्राओं के हित में प्रधानाचार्य किसी भी छात्र/ छात्रा को निम्नलिखित कारणों से भी निष्कासित कर सकते है। इस स्थिति में कालेज द्वारा छात्र पर किये गए पूर्ण व्यय की वसूली उसके अभिभावक से की जा सकती है।

1- यदि किसी छात्र/छात्रा ने कालेज के अनुशासन को नहीं माना है या छात्र/ छात्रा का व्यवहार कालेज के स्टाफ सदस्यों एवं छात्र/छात्राओं के साथ अभद्र है जिसके कारण उसका कालेज में रहना अन्य छात्र/छात्राओं के लिए अहितकर है तो अनुशासनहीनता के आधार पर छात्र/छात्रा को निष्कासित करने का पूर्ण अधिकार प्रधानाचार्य का होगा।

2- यदि छात्र/छात्रा बिना अनुमति के कालेज से चला जाता है तो अभिभावक पूर्ण रूप से जिम्मेदार होगा और कालेज प्रशासन निष्कासित की कार्यवाही कर सकता है।

3- यदि छात्र/छात्रा पढाई या खेल दोनों के निर्धारित मापदंडों एवं स्तर तक नहीं पहुचता है।

4- उन सभी कारणों से जो की उत्तर प्रदेश शिक्षा संहिता में अंकित है।

5- स्पोर्ट्स कालेज में छात्र/छात्रा पूरे उo प्रo से चयनित होकर आते है अतः उन्हें दो वर्ष के अंतर्गत कम से कम अपनी आयु वर्ग की राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओ में स्वर्ण / रजत।/ कांस्य पदक प्राप्त करने की अपेक्षा की जाती है यदि कोई छात्र/छात्रा इस अवधि में अपने खेल में सुधार नहीं करता है अथवा खेल मूल्यांकन समिति द्वारा अनुपयुक्त घोषित कर दिया जाता है तो उसे किसी भी दशा में आगामी सत्र में शिक्षण एवं प्रशिण का अवसर प्रदान नही किया जायेगा।